Best Farming Business 500 रु प्रति किलो में बिकती अनोखी सब्जी लाखो कमाके देंगी सब्जी की खेती |

0
150
Most Profitable Farming in India
Most Profitable Farming in India
0 0
Read Time:9 Minute, 15 Second

Best Farming Business 500 रु प्रति किलो में बिकती अनोखी सब्जी लाखो कमाके देंगी सब्जी की खेती |

हमारे देश की अगर बात करे तो हमारी अर्थववस्था ६० से ७० % तक खेती पर निर्भर कराती है। यैसे में अगर हमारी खेती से कमाई होगी तो हमारा देश अच्छा ग्रो कर सकेगा। इस कारन सर्कार भी खेती को नए नए योजना के जरिये काम कराती है और उसमे खेती की नए तकनीक से किसानो की प्रगति करने की कोशिश कर रही है। यैसे में आप भी अगर किसान है तो आज मई आपको एक यैसे अनोखे खेती के बारे में बताने वाला हु। जिसके जरिये आप इस खेती से बहुत अच्छा कमाई कर सकते है। इस खेती की अगर बात करे तो इसके जरिये जो सब्जी आप उगने वाले है उसकी मार्किट में प्राइस की तो वह ५०० रुपये प्रति किलो के हीसभ से बिकती है। इस कारन अगर आप किसान है और इसकी खेती करना जान जाते है तो आप अच्छा पैसा कमाई कर सकते है।

आज के इस पोस्ट में हम जानेगे कैसे आप एक प्रॉफिटेबल सब्जी की खेती करके अच्छा पैसा कमा सके। वैसे तो आज के टाइम में हर किसान अपनी पराम्परिक खेती को छोड़ के कॅश के पैसा जी प्रोडक्ट में मिलता है उसी को उगाने की कोशिश कर रहे है। यैसे में आप भी अगर इसकी खेती करना चाहते है तो यह पोस्ट आपके लिए लाये है।

आज हम आपको बताने जा रहे है 500 रु प्रति किलो बिकनेवाली भिंडी की खेती कैसे शुरू करे।

आपको पता है की हम जो भिंडी रोज के जिंदगी में सब्जी बना कर खाते है उसकी मार्किट में प्राइस 50 रुपये किलो है। मगर दोस्तों आज मै आपको जो भिंडी बतानेवाला हु उस भिंडी में यैसे गन शामिल है उस कारन उसकी मार्किट में इतनी डिमांड है। उस भिंडी को लाल भिंडी कहा जाता है। उसके जरिये आप मार्किट में उसे ५०० रुपये किलोके हिसाब से बेच सकते है। लाल भिंडी को red lady finger भी कहा जाता है। आप भी अगर लाल भिंडी की खेती करने की सोच रहे है तो हम आज आपको इस खेती के बारे में पूरी जानकारी देने वाले है। आज के इस पोस्ट में हम आपको बतायेगे की लाल भिंडी की खेती करने के लिए कौन सी मिट्टी की जरूरत होती है। उसी के साथ लाल भिंडी मार्केट में कहां पर बेची जाती है। इस खेती को करके कितना प्रॉफिट कमाई कर सकते हैं। इन सभी डिटेल को जानने के लिए आपको इस पोस्ट को पूरा पढ़ना होगा। अगर कोई आपको अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर कीजिए। तो चलिए शुरू करते हैं।

यह भी बिज़नेस आइडियाज देखे।

कचरे से लाखो कामनेवाला बिज़नेस | Low Investment High Profitable Home Based Business Idea |

लाल भिंडी की खासियत

हिंदी की खासियत की अगर बात करें तो हमारे देश में ज्यादातर हरे भिंडी का इस्तेमाल किया जाता है। हरा भिंडी को मार्केट में ₹50 किलो के हिसाब से बेची जाती है। उसका इस्तेमाल करके भिंडी के सब्जी को बनाया जाता है। आप मेरे से बहुत सारे लोग इसके खाने के शौकीन होगी। मगर दोस्तों आपने अगर लाल भिंडी खाई है तो आपको उसकी विशेषता भी जानना जरूरी है। लाल भिंडी का इस्तेमाल अगर आप अपने खानपान में करते हैं , तो उसके जरिए आपके शरीर को बहुत सारी विटामिंस की कमी को पूरा कर देती है। लाल बिंदी में हरे भिंडी से ज्यादा तत्व पाए जाते हैं। इस कारण इसका इस्तेमाल सब्जी के साथ साथ सलाद के साथ किया जाता है।

लाल भिंडी की अगर बात करें तो इसकी डिमांड पूरे भारत देश में ज्यादा है। विशेषता उत्तर प्रदेश के वाराणसी में भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान ए भिंडी के लाल रंग की भिंडी को उत्पादन किया था। इसके बीज की अगर बात करें तो पूरे देश में इसके बीज पाए जाते हैं। इसकी खेती विशेषता भारत देश में उत्तर प्रदेश मध्य प्रदेश मेघालय गुजरात हरियाणा दिल्ली इन राज्यों में की जाती है।

लाल भिंडी की खेती की अगर बात इसकी खेती करना हरे भिंडी की जैसी ही होती है। इसकी खेती करने के लिए आपको जमीन तुलाई दो और मिट्टी की आवश्यकता होती है। इस मिट्टी में लाल भिंडी की खेती बहुत आसानी से आती है। मिट्टी की अगर बात करें तो इसके लिए आपको मिट्टी की टेस्टिंग करना बहुत जरूरी होता है। टेस्टिंग के हिसाब से ६.५ से ७.५ PH होना बहुत जरूरी होता है। ऐसे जमीन को भिंडी के लिए अच्छी जमीन माना जाता है। फरवरी-मार्च और जून-जुलाई में इसकी खेती की जाती है। यानी कि साल में दो बार इसकी खेती की जाती है। और दिन भर में 5 घंटे की धूप होना बहुत जरूरी होता है। लाल भिंडी के झाड़ के लिए धूप की आवश्यकता होती है। अगर आपके पास 1 हेक्टर जमीन है तो उसमें आप 20 से 25 क्विंटल तक लाल भिंडी को उत्पादन कर सकते हैं। और उसी के साथ अगर लाल भिंडी की लंबाई की बात करें तो 7 इंच तक लंबी पाई जाती है।

लाल भिंडी में पानी जाने वाले तत्व

लाल बिंदी में एंथोसाइन नामक तत्व पाया जाता है। इसमें शरीर को एनर्जी मिलने वाले तत्व पाए जाते हैं। उसी के हमारे शरीर की वैनिटी पावर को पढ़ाने की तत्व भी इसमें पाए जाते हैं इसमें लाल रंग के होने के कारण इसमें एंटी ऑक्सीडेंट की मात्रा ज्यादा होती है। इसे पका कर खाने से अच्छा इसे सलाद करके खाना ज्यादा फायदेमंद होता है। क्योंकि पकाने के बाद इसमें के तत्व नष्ट हो जाते हैं इस कारण इसे कच्चा खाना ही सेहत के लिए फायदेमंद साबित होता है।

लाल भिंडी की खेती के लिए लागत

लाल भिंडी की खेती के लिए ज्यादा लागत की जरूरत नहीं होती और इसके लिए एक-एक करके जमीन की आवश्यकता होती है इसी 1एकर में आप अच्छा खासा मुनाफा कमाई कर सकते हैं। अगर बात करें तो आपकी जमीन की पीएच अच्छी है तो आप 1 एकड़ में 25 से 30 क्विंटल तक भिंडी की उत्पादन निकाल सकते हैं। और एक ही साल में अच्छा-खासा मुनाफा कमा सकते हैं।

लाल भिंडी खाने के फायदे

लाल भिंडी की अगर बात करें तो इसमें हरे भिंडी से ज्यादा तत्व पाए जाते हैं। लाल भिंडी का उपयोग करके जो लोग क्रोध है और खून की कमी का शिकार है। उनके लिए यह एक वरदान साबित होती है। उसी के साथ किसी को अगर ब्लड प्रेशर है डायबिटीज है हाय कोलेस्ट्रोल का बीमारी है तो उनके लिए यह फायदेमंद साबित होती है। इस कारण आप भी अगर इसकी खेती करके पैसे कमाना चाहते हैं तो आप इसकी खेती आज ही शुरू कर सकते हैं।

आप अगर ऐसे ही बिजनेस आइडियाज पाना चाहते हैं तो हमारे इस वेबसाइट को जरुर विजिट करें और अन्य बिजनेस आइडिया भी पढ़ सकते हैं।

हमें पढ़ने और देखने के लिए हमें यहाँ फॉलो जरूर करे। Business Facts , YouTube , Telegram , Facebook , Twitter , LinkedIne page हमारे लेटेस्ट अपडेट जानने के लिए साइड में News later Button को क्लिक करे।

About Post Author

Business Facts

हेलो दोस्तों आप सभी का स्वागत है। मेरा नाम संजय है। मै यहाँ आपके लिए विविध प्रकारके बिज़नेस आइडियाज शेयर करता हु। हमारे इस वेबसाइट पर। आप सभी को जीवन में अपना बिज़नेस स्टार्ट करना है। तो मेरे इस वेबसाइट के जरिये आप कोई भी बिज़नेस स्टॉर्ट करने से पहले इस वेबसाइट पर आपको बहुत से यैसे बिज़नेस आइडियाज मिलेंगे जो आप पढ़कर एक बार आईडिया ले सकते है की आपका बिज़नेस में कोनसा तैयारी करनी होगी।
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here